Sunday , 25 October 2020
Home - सनातनी पोस्ट - किस देश में किस रूप में पूजे जाते थे कृष्ण-Hercules था कृष्ण के कुल का
worship-of-bhagwan-krishna-in-ancient-world
worship-of-bhagwan-krishna-in-ancient-world

किस देश में किस रूप में पूजे जाते थे कृष्ण-Hercules था कृष्ण के कुल का

worship of bhagwan Krishna in Ancient world:  वैसे तो हम सभी को यह पता ही है

कि एक समय ऐसा था जब पुरे विश्व में सनातन धर्म ही था और बाद में अन्य पन्थो का

जन्म हुआ | लेकिन विश्व में कई देश ऐसे है जहाँ के लोग भगवान कृष्ण को पूजते थे और

इसके प्रमाण अभी भी मौजूद हैं |

श्री कृष्ण थे विश्व देव bhagwan Krishna in Ancient world

  • हिरोडोटस नामक एक ग्रन्थ में उल्लेख है कि फ्निशिया देश के टीरा नगर में हरक्युलिस का

एक प्रसिद्ध मन्दिर हुआ करता था | ग्रीक साहित्य में हमें हेराक्लिज़ और हरक्युलिस

नाम के दो शब्द सुनने को मिलतें है | bhagwan Krishna in Ancient world

  • ये दोनों ही शब्द हरिकुल ईश , संस्कृत शब्द से लिए गयें है | इसका अर्थ यह हुआ कि हरि के कुल में अवतरित , जैसे श्री राम और कृष्ण हरि के अवतार ही है |
  • यूरोप के होलैंड नाम के देश की राजधानी में सबसे बड़े होटल का नाम है कृष्णपोलसकी| कृष्णपोलसकी  अर्थ है पोलैंड देश का कृष्ण | bhagwan Krishna in Ancient world
इसके अलावा अमेर्स्दम शब्द भी संस्कृत से ही लिया गया है जिसका वास्तविक नाम है अंतधार्म |
  • होलैंड को निधरलैंड भी कहा जाता है | यदि इसके पहले से A शब्द को हटा दिया जाये तो यह बनेगा अंदरलैंड यानि सागर स्तर से निम्न भूमि | bhagwan Krishna in Ancient world
  • स्पेन देश के दक्षिणी तट पर कंदिज़ नाम का एक नगर है |
  • इस भूमि को बहुत ही पवित्र माना जाता है क्योंकि वहाँ पर कृष्ण के मन्दिर हुआ करते थे |
  • स्ट्राबो नाम के एक ग्रीक ग्रन्थकार ने लिखा है कि उस भूमि पर rhadamanthus के बहुत मन्दिर थे |
  • यह शब्द राधा-मनस्थ-ईश के संस्कृत शब्द से लिया गया है | इसका अर्थ है कि राधा के मन में निवास करने वाले भगवान कृष्ण | bhagwan Krishna in Ancient world
  • H.spencer Lewis के ग्रन्थ में मुकुटधारी शिशु का एक चित्र मुद्रित है उसके निचे लिखा है कि ,

एक दैवी बालक की प्रतिमाएं क्रिस्तपन्थ प्रस्थापित होने के पूर्व क्रिस्तमास दिन को कई प्रदेशों में

प्रतिस्थापित की जाती थी |

यह त्यौहार वास्तव में कृष्ण मास का त्यौहार था जो एक समय पुरे विश्व में मनाया जाता था |

Read this also : पाकिस्तान से आये हिन्दू शरणार्थीयों से मिलने पहुंचे शिखर धवन 

Source : वैदिक विश्व राष्ट्र का इतिहास , पुरुषोतम नागेश 

 


आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

यह भी पढ़ें

vedic-culture-in-china

भारत को आँखे दिखाने वाला चीन था हिन्दूराष्ट्र ये रहे प्रमाण

vedic culture in china : आज चीन हमें आँखे दिखा रहा है और भारत भूमि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved