Monday , 30 November 2020
Home - समाचार - स्कुल में करवाए जा रहे है पाकिस्तान और बांग्लादेश के राष्ट्रगान याद
school-gave-task-to-learn-pakistan-and-bangladeshs-national-anthem

स्कुल में करवाए जा रहे है पाकिस्तान और बांग्लादेश के राष्ट्रगान याद

घाटशिला के संत नंदलाल स्मृति विद्या मंदिर में एलकेजी और यूकेजी के छोटे बच्चों को पाकिस्तान और बांग्लादेश  का राष्ट्रगान पढ़ाया जा रहा है। Pakistan and Bangladesh national anthem

क्या है पूरा मामला Pakistan and Bangladesh national anthem

स्कूल प्रबंधक की ओर से एलकेजी तथा यूकेजी के बच्चों को तीन अलग-अलग ग्रुप्स में

बाँट कर भारत के साथ ही पाकिस्तान और बांग्लादेश के राष्ट्रगान को याद करने का टास्क

दिया गया था। स्कूल प्रबंधन के इस कदम पर कई अभिभावकों ने आपत्ति जताते हुए अपने

बच्चों को पाकिस्तान और बांग्लादेश का राष्ट्रगान नहीं बनाने की अपील की है। Pakistan and Bangladesh national anthem

Corona  के कारण स्कूल बंद है और ऑनलाइन क्लासेस में एलकेजी-यूकेजी के बच्चों को
पाकिस्तान और बांग्लादेश का राष्ट्रगान एवं राष्ट्रीय चिन्ह के बारे में भी बताया गया
 शिक्षिका शैला प्रवीण ने  एलकेजी यूकेजी के ग्रुप में मैसेज छोड़ बच्चों को भारत के साथ ही
पाकिस्तान और बांग्लादेश का राष्ट्रगान याद करने का टास्क दिया था | Pakistan and Bangladesh national anthem
एक ग्रुप के बच्चों को भारत का राष्ट्रगान याद करने को दिया गया जबकि दो अन्य ग्रुप के
बच्चों को पाकिस्तान और बांग्लादेश के राष्ट्रगान को प्रैक्टिस करने का टास्क मिला।
इतना ही नहीं ग्रुप में पाकिस्तान और बांग्लादेश के राष्ट्रगान को पोस्ट भी किया गया था।
पाकिस्तान और बांग्लादेश के राष्ट्रगानों पर आधारित यूट्यूब का वीडियो भी शेयर किया गया।
स्कूल प्रबंधक के निर्देश पर शिक्षिका की ओर से दिए गए इन संदेशों के बाद हंगामा शुरू हो गया है।
इस संबंध में स्कूल के प्रिंसिपल से संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे बात नहीं हो सकी।

 


आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

यह भी पढ़ें

Disrespected Lord Shri Ram 2 -भगवान श्री राम जी का पुतला जलाने वालो को पंजाब के हिन्दुओ ने दिखाया जेल का रास्ता

Disrespected Lord Shri Ram 2 –  दशहरे के दिन अमृतसर के माना वाली में भगवान …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved