Thursday , 26 November 2020
Home - षड्यंत्र - मदर टेरेसा की सच्चाई-भाग 2 (संस्था में काम करने वाली महिला)
reality-of-mother-teresa-part-two
reality-of-mother-teresa-part-two

मदर टेरेसा की सच्चाई-भाग 2 (संस्था में काम करने वाली महिला)

Reality of mother teresa part two  : हमारी वेबसाइट द्वारा मदर टेरेसा की सच्चाई पर आधारित लेख की श्रंखला का यह दूसरा भाग है | इस भाग में टेरेसा की संस्था में काम करने के लिए गई एक महिला ने वहाँ घटित घटनाओं के बारे में अपना अनुभव बताया है | Reality of mother teresa part two

मैरी लाओडन का टेरेसा की संस्था में काम करना

  • मैरी का कहना था कि जब वे संस्था में गई तो उन्होंने देखा कि मरीजों के सिर को गंजा कर दिया गया है | संस्था में एक भी कुर्सी नहीं थी | केवल 3 बिस्तर थे जो स्ट्रेचेर बेड ही थे , इसके आलावा वहाँ पर कोई बगीचा नहीं था न ही इस तरह की कोई चीज़ |
  • वहाँ पर केवल दो कमरे थे | 50 से 60 पुरुष एक कमरे में थे और लगभग इतनी ही महिलाएं दुसरे कमरे में थी | वे मर रहे थे |
  • मैरी का आगे कहना था कि , मरीजों को अच्छी डाक्टरी सहायता नहीं दी जा रही थी | यहाँ तक कि उनका दर्द दूर करने के लिए भी दर्दनाशक दवाएं उपलब्द नहीं थी | उनके पास इतने सारे लोगों के लिए ड्रिपस भी नहीं थी |
  • संस्था में काम करने वाले लोग मरीजों के लिए इस्तेमाल की गई सुई को बार बार उपयोग कर रहे थे | सुईओं को बार बार ठन्डे पानी में धोकर फिर से प्रयोग में लाया जाता था | मैरी ने कहा कि जब मैंने उनसे पूछा कि आप उबले पानी में इन्हें क्यों नही धो रहे, तो उनका कहना था इसकी कोई जरूरत नहीं है और न ही इतना समय है |
  • संस्था में एक 15 साल का लड़का था , उसका इलाज कर रही एक महिला डॉक्टर ने बताया कि इस लड़के को मामूली सी किडनी की दिक्कत थी लेकिन दवा न देने के कारण इसकी हालत और खराब हो गई है और अब लड़के को ऑपरेशन की जरूरत है लेकिन संस्था उसे अस्तपताल में नहीं जाने देगी |  Reality of mother teresa part two
  • उस समय टेरेसा को इतनी मात्रा में अनुदान मिल रहा था कि कलकत्ते में बहुत सारे विश्व स्तर के अस्तपताल बनाये जा सकते थे |
  • एक बार एक व्यक्ति कैंसर के कारण दर्द से चिल्ला रहा था | उस व्यक्ति को टेरेसा ने कहा कि तुम जीसस की तरह ही दर्द महसूस कर रहे हो , जीसस जरुर तुम्हे चूम रहें है | इस बात पर दर्द झेल रहे मरीज ने कहा कि तब जीसस से कहें की वे उसे न चूमें |

Read this : मदर टेरेसा की सच्चाई-भाग 1,पैसा होते हुए भी नहीं होता था मरीजों का इलाज़

Source : The Missionary Position: Mother teresa in Theory and practice , writer : Christopher Hitchens

 


आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

यह भी पढ़ें

Reality of Javed akhtar

जिहादी जावेद अख्तर का काला सच शायद बहुत कम लोगो को पता है : Reality of Javed Akhtar

Reality of Javed Akhtar :  क्या बॉलीवुड मे सच मे फिल्म-जिहाद अथवा बॉलीवुड-जिहाद जैसा कुछ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved