Friday , 18 September 2020
Home - षड्यंत्र - Pope Francis Controversial Statement – भोजन और सेक्स ऐसा ‘दिव्य’ आनंद है जो सीधा ईश्वर से पहुंचता है
Pope Francis Controversial Statement
Pope Francis Controversial Statement

Pope Francis Controversial Statement – भोजन और सेक्स ऐसा ‘दिव्य’ आनंद है जो सीधा ईश्वर से पहुंचता है

Pope Francis Controversial Statement : पोप फ्रांसिस ने अजीब दावे करते हुए कहा कि सेक्स और भोजन ऐसा ‘दिव्य’ आनंद है, जो सीधा ईश्वर से पहुंचता है। कैथोलिक चर्च के प्रगतिशील धर्मगुरुओं में से एक रहे पोप फ्रांसिस ने ये बातें लेखक कार्लो पेट्रिनी की किताब TerraFutura के लिए दिए इंटव्यू में कही। Pope

कभी अमेरिका भी था हिन्दू राष्ट्र Francis Controversial Statement

उन्होंने भोजन और सेक्स पर चर्च के अतीत में दिए विचारों की निंदा करते हुए कहा इसे अत्यधिक नैतिकता करार दिया

जिसने “बहुत नुकसान पहुँचाया, जो आज भी दृढ़ता से महसूस किया जा सकता है।”

पोप फ्रांसिस ने कहा कि ” खाने का आनंद आपको स्वस्थ रखने के लिए है, ठीक उसी तरह जैसे कि यौन सुख प्यार को और अधिक सुंदर बनाने और स्पीशिज को जारी रखने की गारंटी देने के लिए है।”

रोम के 2 प्रतिशत कैथोलिक पादरी बाल यौन प्रेमी-Pop Francis

उन्होंने आगे कहा कि ”  इसके विपक्षी विचारों ने बहुत नुकसान पहुंचाया है, जिसे आज भी कुछ मामलों में महसूस किया जा सकता है। उन्होंने कहा खाने का आनंद और यौन सुख ईश्वर से मिलता है।”

पोप फ्रांसिस विचार 

  • पोप फ्रांसिस का सेक्स के प्रति दृष्टिकोण धीरे-धीरे वर्षों में विकसित हुआ है।
  • साल 2016 में उन्होंने सेक्स के आनंद को स्वीकार किया Pope Francis Controversial Statement
  • कहा विवाहित जोड़ों को अपनी शादी के दौरान उस आनंद को बरकरार रखने करने की आवश्यकता है।
  • 2018 में उन्होंने युवा फ्रांसीसी लोगों से सेक्स को आजीवन एक पुरुष और एक महिला के बीच भावुक प्रेम का संकेत बताया था।

दुनिया भर में 1.3 बिलियन कैथोलिकों के धर्म गुरू फ्रांसिस ने आनंद पर अपने मैसेज को रिफ्लेक्ट करने के लिए 1987 की डेनिश फिल्म “बैबेट्स फेस्ट” को गुनगुनाया।

Pope Francis Controversial Statement
Pope Francis Controversial Statement

जब पुर्तगाली ईसाईयों ने गौमांस खिलाकर किया था गोवा में हिन्दुओं का धर्मपरिवर्तन

क्या लिखा है किताब में ?

बुधवार को प्रकाशित किताब “TerraFutura, conversations with Pope Francis on integral ecology

में पेट्रिनी ने लिखा है जो “फास्ट फूड” के विरोध में 1980 के दशक में शुरू किए गए वैश्विक “स्लो फूड” आंदोलन के फाउंडर हैं।

किताब के इंटरव्यूज में पोप के पर्यावरण के विजन के साथ सोशल फेस पर फोकस किया गया है। Pope Francis Controversial Statement

 


आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

यह भी पढ़ें

kgb-destroyed-india

कैसे विदेशी खुफिया एजेंसियों ने भारत में बड़े पदों पर बिठाये थे अपने लोग

Kgb destroyed India : आज़ादी के बाद से ही उस समय सोवियत संघ की कम्युनिस्ट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved