Monday , 30 November 2020
Home - क्यूँ - हिन्दू शब्द कैसे अस्तित्व में आया ?
हिन्दू शब्द
हिन्दू शब्द

हिन्दू शब्द कैसे अस्तित्व में आया ?

हिन्दू शब्द कैसे अस्तित्व में आया ?

  • जम्बूद्वीप, #आर्यावर्त, #भारत, #हिन्दूस्तान, #इंडिया यह सुनकर तो आपको समझ आ ही गया होगा कि ये सभी नाम भारत के ही हैं। भारत जैसे अपनी विभिन्नता के लिए प्रसिद्ध है वैसे ही अपने अलग-अलग नामों से भी जाना जाता है। आधिकारिक तौर भारत का नाम “भारत गणराज्य” या “#रिपब्लिकऑफ इंडिया” के नाम से जाना जाता है। Who is Hindu?
  • हालांकि आजकल देश में एक अलग ही प्रश्न खड़ा हुआ है कि क्या भारत या हिन्दूस्तान हिन्दूओं का देश है या नहीं? यह सवाल लेफ्ट ब्रिगेड ने जानबूझकर भारतीयों को सांप्रदायिक रूप से बांटने के लिए किया है।

हमारे देश में हिन्दू नाम पर बहुत बड़ा शंसय रहा है आखिर हिन्दू कौन हैं? क्या यह कोई संप्रदाय है यह धर्म है या फिर एक प्रकार से जीवन जीने की शैली?

  • भारत की लेफ्ट ब्रिगेड और छद्म इतिहासकारों ने धर्म घोषित कर इसे सांप्रदायिक बनाने की भरपूर कोशिश की है और , वे इसमें सफल भी रहे हैं। आज कोई भी दूसरा समुदाय अपने आप को हिन्दू नहीं मानता है। इसे समझने के लिए हमें हिन्दू शब्द के उद्भव पर जाना होगा।
  • हिन्दू शब्द संस्कृत के सिंधु शब्द से लिया गया है, जो सिंधु नदी का स्थानीय नाम है। यह नदी भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तरी भाग में बहती है।

इतिहास के पानो से

  • 6वीं शताब्दी ईसा पूर्व के एक राजा Darius के शिलालेख में यह स्पष्ट तौर मिलता है। “Hindush” का उल्लेख पश्चिमोत्तर भारत के लिए मिलता है। भारत के लोगों के लिए हिन्दूवां (हिन्दूओं) प्रयोग किया गया था।

Darius I—facts and information

  • साथ ही 8वीं शताब्दी के “चंचनामा” में भारतीयों के लिए विशेषण के रूप में “हिंदवी” का उपयोग किया गया था। इन प्राचीन अभिलेखों में ‘हिंदू’ शब्द एक जातीय-भौगोलिक शब्द के तौर पर प्रयोग किया गया है न कि एक धर्म के रूप में।
  • इसी तरह 13 वीं शताब्दी के बाद, “हिन्दूस्तान” शब्द का प्रयोग भारत के लिए एक लोकप्रिय वैकल्पिक नाम के रूप में किया जाने लगा, जिसका अर्थ है “हिन्दूओं की भूमि”। लेकिन जितने भी आक्रमणकारी भारत आए सभी एक अलग संस्कृति से थे इसलिए उन्होंने हमारी सनातन संस्कृति को “हिन्दू धर्म” कहने लगे। तब से इस सनातन धर्म को हिन्दू धर्म के रूप में प्रचारित किया जाने लगा।
  • वास्तविकता देखें तो पता चलता है कि जो भी सिंधु नदी के पार रहते हैं वे सभी हिन्दू हैं और ये कोई संप्रदाय नहीं है। यहाँ यह भी स्पष्ट करना जरूरी है कि अंग्रेजी में कहा जाने वाला रिलीजन (Religion) और वेदों में प्रयुक्त किया जाने वाला शब्द “धर्म” में जमीन आसमान का फर्क है।

सिन्धु जल संधि एवं इसका सामरिक ...

Post : सांप सीडी खेल कि खोज भारत ने कि थी

  • आज भारत में सभी संप्रदाय के लोग रहते हैं और इस आधार पर देखा जाए तो इस क्षेत्र में रहने वाले सभी हिन्दू ही कहे जाएंगे। चाहे वे सनातन धर्म से हों या मुस्लिम संप्रदाय या अन्य किसी भी मत से हों, सभी के पूर्वज एक जमाने में सनातन धर्म के ही अनुयाई थे। बाहरी मत,मजहब, में सबसे पहले इस्लाम भारत में आया था।
  • उम्मयद खलीफा ने डमस्‍कस में बलूचिस्‍तान और सिंध पर 711 ईसवी में मुहम्‍मद बिन कासिम के नेतृत्‍व में भारत पर चढ़ाई किया। तभी से भारत की सनातन संस्कृति का इस्लाम से परिचय हुआ। इसके बाद लगातार हुए आक्रमणों के कारण भारत में इस्लाम रच बस गया।
  • उत्तर-पश्चिम से आई सेनाओं ने भारत में ही डेरा डाल लिया और यहीं के हो गए। इसके बाद भारत में ईसाई मत का आगमन हुआ और इन दोनों संप्रदायों ने मिलकर इस देश में धर्म परिवर्तन करवाया। धर्म परिवर्तन करने से किसी का इतिहास नहीं बदल जाता और न ही इसे बदला जा सकता है |

Sources :

१.) Hinduis शब्द darius कि किताबों कि कोक्ष में : https://en.wikipedia.org/wiki/Old_Persian_cuneiform

२.) Chachnama : Asif, Manan Ahmed (2016). A Book of Conquest. Harvard University Press.  ISBN 978-0-674-97243-8.

3.) Umayyad Khalifa : Rein Taagepera (September 1997). “Expansion and Contraction Patterns of Large Polities: Context for Russia”International Studies Quarterly41 (3): 496. doi:10.1111/0020-8833.00053JSTOR 2600793.

 

 


आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

यह भी पढ़ें

vishnu-idol-below-qutb-minar

क्यों कुतुबमीनार के निचे दबी है भगवान विष्णु की मूर्ति, इसमें है सृष्टि का रहस्य

Vishnu idol below Qutb Minar : वैदिक विचारधारा के अनुसार शेषषायी भगवान विष्णु ने अपनी लीला …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved