Thursday , 9 July 2020
Home - इतिहास - क्यों नेहरु ने दिए थे माउन्टबेटन को 64 हज़ार रूपये
nehru-gave-money-to-mountbatten
nehru-gave-money-to-mountbatten

क्यों नेहरु ने दिए थे माउन्टबेटन को 64 हज़ार रूपये

Nehru gave money to Mountbatten : वैसे तो भारत के पहले प्रधानमन्त्री नेहरु के अनेकों कारनामे है |

लेकिन अभी आपको एक अनसुना कारनामा  बतातें है | नेहरु ने माउन्टबेटन को दिए थे 64000 रूपये |

आइये जानते है ऐसा क्यों किया गया था | Nehru gave money to Mountbatten

किस कारण से दिए थे पैसे Nehru gave money to Mountbatten

नेहरु की सरकार ने प्रथम गवर्नर जनरल लार्ड माउन्टबेटन को इंग्लैंड वापिस जाने के लिए

64000 रूपये दिए थे |  यह पैसे उसे अपनी यात्रा के लिए और खान पान भत्ते के रूप में दिए

गये थे | यह जानकारी  केन्द्रीय ग्रह मंत्री की  पुरानी फाइलों से मिली थी | इन्ही फाइलों से यह

भी पता चला था किभारत के प्रथम राष्ट्रपति डा राजेन्द्र  प्रसाद की पेंशन और Nehru gave

money to Mountbatten

Mountbatten

प्रधानमन्त्री लालबहादुर शास्त्री का वेतन सरकार के आपदा कोष में चला गया था |

क्योंकि इन दोनों ने उसे लेने से मना कर दिया था  | यह था भारत के नेताओं का त्याग |

लेकिन दूसरी तरफ नेहरु इतने सारे पैसे सिर्फ यात्रा और

खाने के लिए माउन्टबेटन को देतें है | Nehru gave money to Mountbatten

Read This : क्यों और कैसे हुई थी गोदावरी की उत्पत्ति 

इतनी मोटी रकम का वह क्या खायेंगे | क्या सोचकर नेहरु ने इतनी बड़ी रकम माउन्टबेटन को दे दी थी |

एक तरफ भारत में जन समाज गरीबी में जी रहा था और अंग्रेजों ने भारत को पूरी तरह से लुट लिया था |

दूसरी तरफ अंग्रेजो के ही ऐशों आराम के लिए पैसे दिए जातें है | इसके पीछे के कई अन्य कारण भी हो

सकते है | लेकिन क्या पता इसके पीछे की सच्चाई क्या थी | लेकिन बात जो भी हो , वास्तव में भारत के

प्रधानमन्त्री से इस तरह की हरकत अपेक्षित नहीं थी | Nehru gave money to Mountbatten

वास्तव में दुसरे देशों को भारत की सम्म्पति देना  तो नेहरु की पुरानी आदत रही है | नेहरु जी के कारण ही

चीन को हजारों वर्गकिलोमीटर भूमि दे दी डाली थी | इसके ऊपर से कहा था कि यह भूमि तो उपयोग

योग्य नहीं है तो इसका क्या करेंगे | Nehru gave money to Mountbatten

 

आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

 

यह भी पढ़ें

golwalkars-letter-to-subash-chander-bose

अगर गुमनामी बाबा नहीं थे नेता जी तो क्यों गोलवलकर जी लिखते थे उनको पत्र

golwalkar’s letter to subash chander bose : वास्तव में भगवन दी एक ऐसे साधु का …

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved