Tuesday , 11 August 2020
Home - षड्यंत्र - षड्यंत्र-किसने मार डाले भारत के 346 वैज्ञानिक
mysterious-death-of-indian-scientists
mysterious-death-of-indian-scientists

षड्यंत्र-किसने मार डाले भारत के 346 वैज्ञानिक

mysterious death of Indian Scientists :  भारत में पिछले 20 वर्षों में अनेकों भारतीय वैज्ञानिकों की किसी न किसी कारण से मृत्यु हुई है | लेकिन कुछ तो ऐसे वैज्ञानिक थे जो भारत में कई महत्वपूर्ण पदों पर तो थे ही और वे भारत के महत्वपूर्ण प्रोजेक्टों पर काम कर रहे थे | जो शायद दुनिया में भारत को मजबूत कर देतें | आज हम आपको कुछ वैज्ञानिकों के नाम और उनकी रहस्यमय मौतों के बारे में बताते हैं |

वैज्ञानिको और कर्मचारियों की मौत का आंकड़ा mysterious death of Indian Scientists

  • आपको जानकर हैरानी होगी कि भारत के 197 वैज्ञानिकों और कर्मचारियों ने आत्महत्या की थी |
  • इसमें भारतीय परमाणु उर्जा निगम मुंबई के उच्च कोटि के 13 वैज्ञानिक और कर्मचारी शामिल थे |
  • 1733 की मौत गम्भीर बिमारियों की वजह से हुई |
  • 346 लोगों की मौत अन्य कारणों से हुई थी |

महत्वपूर्ण वैज्ञानिक और उनकी मौत के कारण 

श्री अभीष कुमार और श्री के के जोश :

  • अभीष कुमार भारत की परमाणु चलित पनडुब्बी अरिहंत के मुख्य इंजीनियर थे |
  • श्री के के जोश जहाज निर्माण विभाग के मुख्य थे |लेकिन दोनों की मौत विष से हुई थी |
  • दोनों की लाशों को पटरियों पर फैंक दिया गया था | mysterious death of Indian Scientists
  • यह दोनों ही स्वदेशी तकनीक विकसित करने में लगे हुए थे |

श्री अमित कुमार : अमित कुमार बारक में वैज्ञानिक थे और इनकी मौत 2013 में सड़क दुर्घटना में हुई थी |

श्री ए जी पोददार :

  • यह वरिष्ट वैज्ञानिक थे और इनकी मृत्यु 27 मार्च 2008 में सड़क दुर्घटना में हुई थी
  • परिवार के लोगों का कहना था कि यह हत्या का मामला है |
  • लेकिन पुलिस ने इसे दुर्घटना कह कर फाइल बंद कर डाली |

श्री एल . महालिंगम :

  • वे कैगा परमाणु उर्जा केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक थे | mysterious death of Indian Scientists
  • 8 जून 2009 की सुबह वे सैर करने गए लेकिन फिर वापिस नहीं लौटे |
  • लेकिन पांचवे दिन उनकी लाश काली नदी के किनारे मिली और लाश की हालत खराब थी |
  • डी ऐन ऐ से लाश की जांच की गई और पुलिस ने इसे आत्महत्या का मामला मान लिया था |

Read this :सिंध के हिन्दू देवता जिसे मुस्लिम भी पुजतें है

श्री उमंग सिंह और श्री पार्थ प्रीतम: 

  • इनकी मृत्यु प्रयोगशाला में आग लगने के कारण हुई थी, लेकिन आग का कारण अज्ञात है |
  • प्रयोगशाला में कोई भी ज्वलनशील पदार्थ नहीं मिला | mysterious death of Indian Scientists
  • पुलिस ने इसे दुर्घटना बता दिया था | mysterious death of Indian Scientists

श्री एस पी नैय्यर : 

  • ये आनन्द भवन के स्टाफ रसायन वैज्ञानिक थे और स्टाफ क्वार्टर में मृत पाए गये थे |
  • पोस्टमार्टम में हत्या का कहा गया लेकिन पुलिस ने इसे दुर्घटना मान लिया था |

श्री राजीव लोचन और श्री कृष्णा मूर्ति : mysterious death of Indian Scientists

  • यह दोनों ही इसरो में भारतीय वैज्ञानिक थे | 25 अगस्त 2007 को यह कार से श्री हरिकोटा प्रशिक्ष्ण केंद्र के लिए गये |
  • रस्ते में दुर्घटना हुई और श्री कोचन की मृत्यु हो गई और श्री कृष्णा घायल हो गये |
  • सितम्बर महीने में यहाँ उपग्रह इन्सैट  4 सी आर को प्रक्षेपित करना था |mysterious death of Indian Scientists

इस तरह हमारे वैज्ञानिकों की मृत्यु हुई जो अभी भी संदेह के दायरे में है | वास्तव मे इस समय कांग्रेस की सरकार थी जब भारतीय वैज्ञानिक  मारे जा रहे थे |

reference : asiatimes

 

आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

 

यह भी पढ़ें

Hou Yanqi

चीन की विषकन्या , जिस के हाथों में है नेपाल की सत्ता : Hou Yanqi

Hou Yanqi ( होऊ यांकी ), ये चाइनीज़ उपनिवेश नेपाल की वर्तमान एम्बेसेडर ।आप इन्हें …

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved