maharashtra-police-on-palghar-sadhu-lynching

मृत पालघर साधुओं के साथ हुआ अन्याय: महाराष्ट्र सरकार चुप

palghar sadhu lynching : 16 अप्रैल को महाराष्ट्र के पालघर के गढ़ जिले गांव में भीड़ ने। 2 साधुओं, महंत सुशील गिरी महाराज  और महंत  कल्पवृक्ष गिरी महाराज और उनके ड्राइवर निलेश को मार दिया था।| साधुओं की निर्मम

हत्या पर महाराष्ट्र की सीआईडी द्वारा बुधवार को धानू कोर्ट में दो-चार सीट दायर की थी।

पहली चार्जशीट में 4955 बने थे और दूसरी चार्जशीट में 5921 बने थे।

लेकिन इस चार्जशीट में पुलिस ने बताया कि मामला धार्मिक कारणों से प्रेरित नहीं था

बल्कि अफवाहों पर आधारित था। palghar sadhu lynching 

महाराष्ट्र की सीआईडी द्वारा बुधवार को डहानू कोर्ट में 126 और साथ ही दो नाबालिगों के

खिलाफ चार्जशीट दायर किया गया था। इसी दौरान न्यायालय ने इस मामले के 25 आरोपियों की जमानत की याचिका को खारिज कर दिया। palghar sadhu lynching 

इस प्रकार हमने इस मामले पर पहले भी एक रिपोर्ट आपको दिखाई थी जिसमें पालघर क्षेत्र

के बारे में बताया गया था कि कैसे इस क्षेत्र में हिन्दू विरोधी गतिविधियाँ चल रहीं है |

सरकार इस मुद्दे को अपने ही रंग में रंग रही है |

भारत जैसे देश में साधुओं की हत्या होना आम बात हो गई है |

लेकिन भारत और राज्य की सरकारें इस पर मौन रहतीं है |

Read this also : पालघर में साधुओं की हत्या पर जाँच कमेटी का खुलासा 

Reference : sudharshannews

आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

Quick Payment Link

यह भी पड़िए

जीत गई काशी: काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर के लिए ज्ञानव्यापी मस्जिद ने दी जमीन…

काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) और ज्ञानवापी मस्जिद (Gyanvapi Masjid) विवाद में एक बड़ी …

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved