Maa Annapurna Idol -सौ साल पुरानी मां अन्नपूर्णा की मूर्ति आएगी काशी, अवैध तरीके से पहुंची थी कनाडा

Maa Annapurna Idol –  सौ साल पहले चुरा कर कनाडा ले जाई गई मां अन्नपूर्णा की मूर्ति जल्द काशी आएगी
कनाडा सरकार ने भारत के उच्चायुक्त को 19 नवंबर को मूर्ति सौंप दी है।
मूर्ति कनाडा की यूनिवर्सिटी ऑफ रेजिना में मिली है। मूर्ति के एक हाथ में खीर और
दूसरे हाथ में अन्न मौजूद है। Maa Annapurna Idol 

Maa Annapurna Idol 
Maa Annapurna Idol

19 नवंबर से शुरू हुए वर्ल्ड हेरिटेज सप्ताह के दौरान भारतीय  कलाकार दिव्या मेहरा की नजर मूर्ति पर पड़ी और मामला उठाया। सक्रियता के बाद उजागर हुआ कि मैकेंजी ने सौ साल पहले भारत की यात्रा की थी और उसी समय वह वाराणसी भी आए थे।
माना जा रहा है कि इस मूर्ति को अन्नपूर्णा मंदिर से चोरी कर पहुंचाया गया था। मूर्ति अब भारत लाई जा रही है। मैकेंजी आर्ट गैलरी में रेजिना यूनिवर्सिटी के संग्रह से मिली मां अन्नपूर्णा की मूर्ति को अंतरिम राष्ट्रपति और विश्वविद्यालय के उप-कुलपति थॉमस चेस ने कनाडा में भारत के उच्चायुक्त अजय बिसारिया को एक वर्चुअल समारोह में 19 नवंबर को आधिकारिक रूप से इस मूर्ति की जानकारी दी। इस समारोह में मैकेंजी आर्ट गैलरी, ग्लोबल अफेयर्स कनाडा और कनाडा बॉर्डर सर्विसेज एजेंसी के प्रतिनिधि भी शामिल हुए। Maa Annapurna Idol 

अब यह मूर्ति भारत में वापस आने के साथ ही उम्मीद है कि अन्नपूर्णा दरबार का सौ साल बाद एक
अभिन्न हिस्सा भी बन जाएगी। क्षेत्रीय पुरातत्व अधिकारी डॉ. सुभाष चंद्र यादव ने बताया कि मूर्ति
जब भारत आएगी, उसके बाद आगे की प्रक्रिया पूर्ण होगी। वैसे अभी कुछ दिन पहले कर्नाटक से चोरी
हुई मूर्तियां जब भारत आईं तो उन्हें मंत्रालय ने कर्नाटक सरकार को सौंप दिया। इससे उम्मीद है कि
यह मूर्ति काशी की धरोहर है और काशी आएगी। Maa Annapurna Idol 

Gyanvyapi Masjid News : ज्ञानवापी मस्जिद में मिले पांच सौ साल पुराने मंदिर के अवशेष

https://saffrontigers.com/gyanvyapi-masjid-news/

आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

Quick Payment Link

यह भी पड़िए

जीत गई काशी: काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर के लिए ज्ञानव्यापी मस्जिद ने दी जमीन…

काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) और ज्ञानवापी मस्जिद (Gyanvapi Masjid) विवाद में एक बड़ी …

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved