Lord vishnu bow sharang – प्राचीन काल का सबसे शक्तिशाली शस्त्र शारंग

 

Lord vishnu bow sharang – आज हम आपको बताते है शारंग धनुष के वारे में .
‘शारंग’ भगवान विष्णु का धनुष है। विष्णु के अन्य अस्त्र-शस्त्रों में सुदर्शन चक्र, नारायणास्त्र,
वैष्णवास्त्र, कौमोदकी व नंदक तलवार सम्मिलित हैं। यह धनुष, भगवान शिव के धनुष पिनाक के साथ,
विश्वव्यापी वास्तुकलाकार और अस्त्र-शस्त्रों के निर्माता विश्वकर्मा द्वारा तैयार किया गया था। Lord vishnu bow sharang

"<yoastmark

समय के साथ, शारंग, भगवान विष्णु के छठे अवतार और ऋषि ऋचिक के पौत्र परशुराम को प्राप्त हुआ।
परशुराम ने अपने जीवन के उद्देश्य को पूरा करने के पश्चात, विष्णु के अगले अवतार भगवान राम को
शारंग दे दिया। भगवाम राम ने इसका प्रयोग किया और इसे जलमण्डल के देवता वरुण को दिया।
महाभारत में, वरुण ने शारंग को खांडव-दहन के दौरान भगवान कृष्ण (विष्णु के आठवें अवतार) को दे
दिया। शरीर छोड़ने से ठीक पहले, भगवान कृष्ण ने इस धनुष को महासागर में फेंककर वरुण देवता को वापस लौटा दिया था।

Lord vishnu bow sharang

क्यों कुतुबमीनार के निचे दबी है भगवान विष्णु की मूर्ति, इसमें है सृष्टि का रहस्य

क्यों कुतुबमीनार के निचे दबी है भगवान विष्णु की मूर्ति, इसमें है सृष्टि का रहस्य

 

आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

Quick Payment Link

यह भी पड़िए

Roopkund

कंकालो से भरी रहस्यमयी झील भारत में कहाँ है? क्या है रहस्य ?

Roopkund : हिमालय की गोद में बसे देवभूमि उत्तराखंड में स्थित रूपकुंड झील की खोज …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved