इसराइल व हमास के बीच तेज हुई लड़ाई ने 2014 के गाजा युद्ध की याद दिलाई

israel and hamas war  गाजा से आते रॉकेटों और इसराइल के हवाई हमलों ने बुधवार को
2014 के उस संघर्ष की याद दिला दी जो 50 दिनों तक चला था। दोनों पक्षों के बीच शुरू हुए
मौजूदा संघर्ष के अभी खत्म होने के आसार भी नजर नहीं आ रहे हैं। गाजा के
हमास शासकों और अन्य उग्रवादी समूहों ने सैकड़ों रॉकेट दागे जिससे घनी
आबादी वाले तेल अवीव में विस्फोटों की आवाज सुनाई देती रही।
वहीं, इसराइल ने गाजा पट्टी में 2 बहुमंजिला इमारतों को निशाना बनाते हुए हवाई हमले किए। israel and hamas war

इसराइल ने पहले चेतावनी देते हुए गोलियां चलाईं ताकि नागरिक इमारत छोड़कर जा सकें लेकिन बाकी संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचा। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि बुधवार को थोड़ी देर के विराम के बाद इसराइल ने पुलिस और सुरक्षा प्रतिष्ठानों को निशाना बनाते हुए दर्जनों हवाई हमले किए। गाजा सिटी में धुएं का गुबार उठता दिखा।

https://hindi.cdn.zeenews.com/hindi/sites/default/files/styles/zm_700x400/public/2021/05/12/823097-israel.png?itok=fyELRjHG

हमास द्वारा संचालित आतंरिक मंत्रालय ने बताया कि इसराइल के हवाई हमलों में
गाजा सिटी केंद्रीय पुलिस मुख्यालय नष्ट हो गया। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इसराइल के
हमलों में गाजा में मरने वाले फलस्3ियों की संख्या बढ़कर 43 हो गई है।
इनमें 13 बच्चे और 3 महिलाएं शामिल हैं। करीब 300 लोग घायल हुए हैं।
वहीं, मंगलवार और बुधवार तड़के रॉकेट हमलों में 3 महिलाओं और एक बच्चे समेत
5 इसराइलियों की मौत हो गई तथा दर्जनों अन्य लोग घायल हो गए। israel and hamas war

मागेन डेविड एडम आपात सेवा के प्रमुख अली बिन ने बताया कि गाजा उग्रवादियों ने बुधवार को सीमा पर टैंक विध्वंसक मिसाइल दागी जिसमें एक इसराइली की मौत हो गई और 2 अन्य घायल हो गए। अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि ए लोग सैनिक थे या आम नागरिक। इसराइली सेना ने बताया कि उग्रवादियों ने संघर्ष के शुरू होने से लेकर अब तक 1,050 से अधिक रॉकेट दागे हैं।

सेना ने बताया कि उसने गाजा से इसराइल में घुसे एक ड्रोन को भी मार गिराया। सैन्य प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल जोनाथन ने कहा कि 2 इन्फैंट्री ब्रिगेड इलाके में भेजी गई हैं जो जमीनी आक्रमण की तैयारी को दिखाती हैं।

इसराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने हमले तेज करने का आह्वान करते हुए कहा कि इसमें वक्त लगेगा। कतर, मिस्र और संयुक्त राष्ट्र संघर्षविराम कराने के लिए काम कर रहे हैं। मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 3 दिन के भीतर बुधवार को बंद कमरे में अपनी दूसरी बैठक करने की योजना है। परिषद के राजनयिकों ने गोपनीयता की शर्त पर कहा कि संयुक्त राष्ट्र की सबसे शक्तिशाली संस्था ने कोई बयान जारी नहीं किया है क्योंकि अमेरिका को चिंता है कि इससे तनाव बढ़ सकता है। israel and hamas war

यह भी पढ़े . . .

चीन की सेना वियतनाम जैसे छोटे से देश बुरी तरह हारी थी – २०,००० सैनिक मारे गये थे

आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

Quick Payment Link

यह भी पड़िए

जीत गई काशी: काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर के लिए ज्ञानव्यापी मस्जिद ने दी जमीन…

काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) और ज्ञानवापी मस्जिद (Gyanvapi Masjid) विवाद में एक बड़ी …

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved