India warns china
India warns china

India warns china – ‘लक्ष्मण रेखा’ लांघने की कोशिश ना करे चीन, भारत से मिलेगा करारा जवाब: भारत सरकार के शीर्ष अधिकारी

India warns china – एलएसी पर चीन से तनाव जारी है। चीन की हरकतों पर अब
भारत का रुख बेहद ही सख्त हो गया है। भारतीय सेना ने अपने फील्ड कमांडर्स को सख्त निर्देश दिया है
कि किसी भी हालत में चीनी सैनिकों को एलएसी का उल्लंघन नहीं करने दें। उधर केंद्र सरकार के एक
शीर्ष अधिकारी ने बुधवार को चीन को सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि अगर ईस्टर्न लद्दाख में अब चीन ने
‘लक्ष्मण रेखा’ पार की तो उसे माकूल जवाब दिया जाएगा।India warns china

  • चीन की हरकतों पर बेहद सख्त हुआ भारत
  • भारत के शीर्ष अधिकारी ने चीन को दी चेतावनी
  • चीन को ‘लक्ष्मण रेखा’ पार ना करने की हिदायत दी
India warns china
India warns china

भारत ने तनाव वाले क्षेत्र में सैनिकों की संख्या बढ़ाई

अधिकारी ने जानकारी दी है कि भारत ने इस क्षेत्र में चीन की तैनाती और उसके खतरे का जवाब देने के
लिए फॉरवर्ड पोजिशन पर जवानों की संख्या में पर्याप्त इजाफा किया है। 45 साल बाद एलएसी पर गोली
चलने और चीन की उकसावे लगातार भरी कार्रवाई के बाद बाद भारत की ओर से ऐसी चेतावनी दी गई है।
सोमवार को चुशुल के मुखपरी टॉप के पास चीनी जवानों ने एलएसी की उल्लंघन करते हुए हवाई फायरिंग
की थी। घटना के अगले दिन यानी मंगलवार को पीएलए के सैनिकों की खतरनाक हथियारों के साथ
तस्वीरें भी सामने आई थीं। India warns china

भारत को आँखे दिखाने वाला चीन था हिन्दूराष्ट्र ये रहे प्रमाण

विदेश मंत्रियों की बैठक से पहले दिया सख्त संदेश

मॉस्को में विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीनी विदेश मंत्री वांग यी की मुलाकात से पहले भारत की ओर से
इस तरह की कड़ी चेतावनी महत्वपूर्ण है। आपको बता दे कि ईस्टर्न लद्दाख के पैंगोंग सो झील के दक्षिणी
छोर पर चीन भारतीय सैनिकों को लगातार उकसाने की कोशिश कर रहा है। पीएलए के सैनिक और टैंक
लगातार इस इलाकों में देखे जा रहे हैं। भारतीय सेना के पैंगोंग सो झील के पास रणनीतिक रूप से
महत्वपूर्ण कई चोटियों पर कब्जा करने के बाद से ही चीन बौखलाया हुआ है और हताशा में लगातार
उकसावे भरी कार्रवाई कर रहा है। India warns china

source – nav bharat time

आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

Quick Payment Link

यह भी पड़िए

जीत गई काशी: काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर के लिए ज्ञानव्यापी मस्जिद ने दी जमीन…

काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) और ज्ञानवापी मस्जिद (Gyanvapi Masjid) विवाद में एक बड़ी …

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved