Wednesday , 21 October 2020
Home - समाचार - चीनी माल ने खत्म कर दिए भारत के कारखाने
india-china-trade-facts
india-china-trade-facts

चीनी माल ने खत्म कर दिए भारत के कारखाने

India China trade facts : भारत को चीन के बीच आज तनाव का वातावरण बना हुआ है | एक और हम चीन के लिए एक बड़ा बाज़ार है और दूसरी और वह हमारी भूमि पर कब्जा करना चाहता है | अभी चीन के कारण भारतीय सेना के 3 जवान शहीद हो गये है | आज हम आपको चीन के कारण खत्म हुए भारतीय उद्योगों का आंकड़े बताते हैं : India China trade facts

  • 2002 में भारत और चीन के बीच 4.8 बिलियन डोलर का व्यापार हुआ था जो 2016 में बड़ा और 70.8 बिलियन डोलर का हो गया | लेकिन उसमें से भारत ने 58.33 बिलियन डोलर का आयात किया और मात्र 11.76 बिलियन डोलर का निर्यात चीन को किया | इसका अर्थ यह हुआ की हमारा व्यापार घाटा रहा |
  • भारत जो चीन से माल खरीद रहा है उसका 36 प्रतिशत केवल मशीनरी ही है | इसके अलावा भारत चीन से केमिकल , दूध , खनिज तेल , मोबाइल , खिलोने और बिजली का आमान आदि आयात करता है |

Read this : भारत चीन सीमा पर भारत के 3 जवान शहीद 

  • ASSOCHAM की रिपोर्ट के अनुसार 2010 से 2014 तक 2000 छोटे उद्योग भारत में बंद हुए थे |
  • इसी रिपोर्ट के अनुसार भारत की 40 प्रतिशत खिलौने के कारखाने बंद हो चुके है और 20 प्रतिशत खत्म होने की कगार पर हैं |
  • भारत के कई कारखाने जैसे , चमड़ा , स्टील , पटाखे और टेक्सटाइल आदि खत्म होने की कगार पर हैं |
  • पंजाब में अमृतसर के टूल कारखाने , और टेक्सटाइल कारखाने बंद हो रहे है |
  • इसी प्रकार पंजाब में अनेको जिलों में कई कारखाने बंद होने शुरू हो गयें है | इसी कारण बेरोजगार भी बढ़ रहा है |
  • जलंधर में भी रबर की चप्पल और टूल्स बनाने के कारखाने संकट में है , इसके अलावा लुधियाना में रोजरी , साइकिल , और डाईंग कारखाने खत्म हो रहे है|

 


आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

यह भी पढ़ें

BJP VS AKALI DAL

जब मोदी जी ने हरसिमरत से मिलने से इंकार कर दिया था – 6 घंटे खड़ी रही थी बाहर

नई दिल्लीः हरसिमरत कौर बादल, जिन्होंने कृषि संबंधित 3 विधेयकोंं के विरोध में खाद्य प्रसंस्करण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved