Monday , 23 November 2020
Home - सनातनी पोस्ट - अफगानिस्तान था हिन्दुराष्ट्र , प्राचीन भगवान शिव माँ उमा की मूर्ति मिली
Hindu God Statue Found in Afghanistan
Hindu God Statue Found in Afghanistan

अफगानिस्तान था हिन्दुराष्ट्र , प्राचीन भगवान शिव माँ उमा की मूर्ति मिली

काबुल , तप स्कंधर : यह स्थान काबुल के उत्तरी भाग में स्थित है। वर्ष 1970 में जापान के क्योटो विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य मिशन ने इस स्थान पर उत्खनन किया था। यहां दो ठहरने वाले स्थान मिले, जिसमें एक किला और कई लघु पुण्य स्थान हैं, जिनमें से एक में अग्नि वेदी है। यहाँ प्राप्त सबसे महत्वपूर्ण खोज एक संगमरमर की उमामहेश्वर की हिंदू मूर्ति है, जिसके आधार पर संस्कृत का एक शिलालेख उत्कीर्ण है। सातवीं से नौवीं शताब्दी ईस्वी की अवधि के मध्य यह अफगानिस्तान के  हिंदू शासकों का एक महत्वपूर्ण परिसर था। इस परिसर में धार्मिक और नागरिकों के उपयोग वाले भवन एक साथ बने हुए थे। Hindu God Statue Found in Afghanistan

Hindu Shahi Dynasty – History Pak

उमामहेश्वर अनु की इस संगमरमर की मूर्ति का वर्ष 1970 में पुरातात्विक उत्कृष्टता के दौरान पता चला। यह अब तक संगमरमर की मूर्तियों को सबसे अधिक संरक्षित मूर्ति है। यह सफेद संगमरमर के एक शिलाखंड से उकेरी गया है, जिसमें चार भुजाओं और तीन नेत्रों वाले भगवान शिव नंदी पर विराजमान हैं। उनकी साथ पत्नी पार्वती और अपनी देवी मां के बाएं ओर खड़े स्कंद भी हैं। इस मूर्ति के निचले हिस्से में ब्राह्मी लिपि / शारदा लिपि के वर्ण और संस्कृत भाषा में तीन-पंक्ति वाला शिलालेख भाषा है। इस पढ़ने लायक शिलालेख के कारण इस मूर्ति का महत्व और बहुत अधिक हो गया है। यह उत्कीर्णन इंगित करता है कि शिव को महेश्वर का नाम दिया गया है और इसी कारण उनकी अर्धागिनी का नाम उमा है। Hindu God Statue Found in Afghanistan

यह भी पड़िए : नेपाल में मिली 26450 पुराणी विष्णु जी की मूर्ति : Kalpa Vigraha

अफगानिस्तान के इतिहास में हिन्दूशाही वंश का विशेष महत्व है। चार सौ साल तक इन हिन्दू राजाओं ने अफगानिस्तान से लेकर पूरे पंजाब तक शासन किया। इस राजवंश के 22 शासकों का उललेख मिलता है। कुछ दशक पूर्व जब व्योवृद्ध पत्रकार मनमोहन शर्मा अफगानिस्तान गए थे तो उन्हें काबुल के संग्रहालय में दर्जनों हिंदू हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियां नजर आई थीं। उनके लिए हैरानी की बात यह थी कि ये हिंदू मूर्तियों को संग्रहालय की सूची में बौद्ध मूर्तियों के रूप में प्रस्तुत किया गया था। इस दिशा में जापानी देवता – वेत्ताओं के वर्ष 1970 किए गए पुरातात्विक उत्खनन के परिणामस्वरुप अफ़ग़ानिस्तान में हिन्दुओं के अब तक छिपे सुनहरे इतिहास का नया पक्ष उजागर हुआ है और इससे यह भी सिद्ध हो गया है अफगानिस्तान भी कभी भारत देश का ही अभिन्न हिस्सा था । जिस तरह भारत के विभाजन से पाकिस्तान और बांग्लादेश ये दोनों अलग अलग देश बने उसी प्रकार अफगानिस्तान भी भारत का विभाजन करके बनाया गया है और आज के समय में ये तीनों इस्लामिक मुल्क हैं Hindu God Statue Found in Afghanistan

Source : wikipedia

 


आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

यह भी पढ़ें

माँ पार्वती को प्रसन्न करने वाला पर्व हरतालिका तीज ( Hartalika Teej )

Hartalika Teej : भारत का प्रमुख त्योहार हरतालिका तीज व्रत भाद्रपद, शुक्ल पक्ष की तृतीया …

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved