+OK
Breaking News
+OK
hindu-divan-todar-mal
hindu-divan-todar-mal

टोडरमल जिन्होंने गुरु गोबिंद सिंह के पुत्रो का करवाया था दाह संस्कार

Hindu divan todar mal : भारत का इतिहास देश और धर्म के लिए अपने प्राणों की आहुति देने

वाले शूरवीरों से भरा पड़ा है | उन्ही में से एक वीर थे गुरु गोबिंद सिंह जी , गुरु गोबिंद सिंह जी ने देश के

लिए अपने परिवार का बलिदान दे दिया था | इन्होने पंजाब में मुगलों के साथ संघर्ष करते हुए इस धरती

को विदेशों के अधीन होने से बचाए रखा | Hindu divan todar mal

टोडर मल ने करवाया था साहिबजादों का दाहसंस्कार Hindu divan todar mal

उस समय पूरा भारत विदेशी यानि इस्लामिक आक्रान्ताओं से झूझ रहा था | हिन्दुओ का जबरन धर्मपरिवर्तन

करवाया जा रहा था | उसी समय दिसम्बर 1704 में गुरु गोबिंद सिंह जी के छोटे साहिबजादों बाबा जोरावर सिंह

और बाबा फ़तेह सिंह जी को मुगलों द्वारा अपना धर्म छोड़ने को कहा गया था | लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया|

इसके बाद उनको वजीर खान द्वारा दीवार में चुनवाने का आदेश दे दिया | Hindu divan todar mal

इसके बाद उसने आदेश जारी किया कि गुरु पुत्रों और माता जी का संस्कार सरकारी जमीन पर नहीं किया जायेगा|

संस्कार के लिए चौधरी हट्टा से जमीन खरीदनी पड़ेगी| जितनी जमीन संस्कार के लिए चाहिए होगी उसके ऊपर

सोने  के सिक्के खड़े करके बिछाने होंगे| Hindu divan todar mal

 

इसके बाद दीवान टोडर मल जी आगे आये और उन्होंने एक अनुमान के अनुसार 78000 सोने के सिक्कों को जमीन पर बिचा कर जमीन ली और गुरु पुत्रों तथा माता जी का अंतिम संस्कार किया |

इस प्रकार देश के इस महान हिन्दू पुत्र ने देश और धर्म के प्रति अपना कर्तव्य निभाया था जिसको भुला नहीं जा सकता है |लेकिन आज हिन्दू दीवान टोडर मल की हवेली बहुत ही खस्ता हालत में है | पंजाब सरकार ने इसको बचाने में आजतक कोई कदम नहीं उठाया है |

 

 

 

Also Read: क्या है नेहरु द्वारा अमरीकी राष्ट्रपति को भेजे पत्र में

Reference : पंजाब केसरी

आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

Quick Payment Link

+OK

About chadharohan

Check Also

no2hijab

No2Hijab : ईरान में हिजाब से आजादी के लिए मुस्लिम औरतों की क्रांति, Video/फोटो शेयर कर रही

ईरान की औरतें हिजाब से आजादी चाहती हैं। वे हिजाब कानून के विरोध में सोशल …

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved
+OK