Monday , 23 November 2020
Home - समाचार - इस राज्य में बंद किए जाएंगे सरकारी मदरसे और संस्कृत स्कूल, जानिए वजह
Government madrasa will close

इस राज्य में बंद किए जाएंगे सरकारी मदरसे और संस्कृत स्कूल, जानिए वजह

गुवाहाटी: असम की सरकार ने सरकारी पैसों से धार्मिक शिक्षा बंद करने का फैसला क्या लिया. असम सरकार का कहना है कि जनता के पैसों की फिजूलखर्ची अब नहीं होगी. असम सरकार ने कहा है कि जनता के पैसे से धार्मिक शिक्षा का प्रावधान नहीं है. ये आदेश असम के संस्कृत स्कूलों पर भी लागू होगा. वहीं विपक्ष के नेता ने सरकार के फैसले पर सवाल उठाए है. बदरुद्दीन अजमल ने कहा है कि सरकार आई तो फैसला वापस होगा. Government madrasa will close 

Only secular education promoted – सरकारी मदरसे होंगे बंद, सरकार केवल धर्मनिरपेक्ष और आधुनिक शिक्षा को बढ़ावा देगी: हिमांत विश्व शर्मा(Opens in a new browser tab)

अगले महीने जारी होगा नोटिफिकेशन

  • असम सरकार में मंत्री हेमंता बिस्वा शर्मा ने घोषणा की है कि राज्य के सभी सरकारी मदरसे बंद किए जाएंगे.
  • उन्होंने कहा है कि पब्लिक के रुपयों से धार्मिक शिक्षा देने का प्रावधान नहीं है,
  • इसलिए सरकारी मदरसे अब नहीं संचालित होंगे. Government madrasa will close 
  • साथ ही सरकारी मदद से चल रहे संस्कृत विद्यालय भी अब बंद कर दिए जाएंगे.
  • इस बाबत नोटिफिकेशन अगले महीने जारी कर दिया जाएगा.

असम के अदबुध हिन्दू मंदिर जिनके इतिहास जानने योग्य हैं

बन सकता है चुनावी मुद्दा

असम सरकार के इस बयान पर AIUDF प्रमुख और लोकसभा सांसद बदरुद्दीन अजमल ने कहा कि अगर बीजेपी की राज्य सरकार सरकारी मदरसे बंद कर देगी तो उनकी सरकार इन्हें फिर से खोल देगी. बता दें कि अमस में अगले साल विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं. विपक्ष इसे चुनावी मुद्दा बनाने की तैयारी में है.

अब आगरा में असामाजिक तत्वों ने हिन्दू मंदिर को निशाना बनाया – लोगो ने किया विरोध

Soure ” The Hindu

 


आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

यह भी पढ़ें

violence during durga puja procession – बिहार में मूर्ति विसर्जन के दौरान विवाद: पुलिस से झड़प में एक की मौत, 22 से ज्यादा घायल

violence during durga puja procession –  बिहार के मुंगेर में दशहरा पर दुर्गा मूर्ति विसर्जन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved