Thursday , 9 July 2020
Home - क्यूँ - क्या है देसी गाय और विदेशी गाय में अंतर
difference-between-jersey-and-desi-cow
difference-between-jersey-and-desi-cow

क्या है देसी गाय और विदेशी गाय में अंतर

Difference between jersey and desi cow : भारत में  हर हिन्दू गायें को अपनी माता तुल्य समझता है | लेकिन क्या आपको पता है कि भारत में आज भारतीय नस्ल की बहुत कम गायें बची है | अशिकांश हम सडकों पर जो गाय देखते है उनमे अधिकाशं गायें देसी नहीं होती | वह कुछ जानवरों के जिन्स को मिलाकर नस्ल बनाई गई है जिसका प्रयोग मांस के लिए होता था | आज हम आपको अपनी भारतीय देसी गायें और अन्य गायें में अंतर बतायेंगे ताकि आप सिर्फ देसी गायें का ही पालन पोषक और दूध लें | difference between jersey and desi cow 

Live Kankrej Cow Manufacturer in Karnal Haryana India by Anmol ...

यह है कांकरेज नस्ल की देसी गाय

देसी गायें (A2) अन्य गायें(A1)
देसी गायें का दूध तेज़ दिमाग वाला होता है जो हमें शक्तिशाली , विषाणु रोधक बनाता है , इसके साथ ही यह जल्दी पचने वाला तथा पौष्टिक होता है | इसे A2 दूध कहतें है इसका दूध मोटापा बडाता है और यह पीने वाले को शुगर , कैंसर जैसी बीमारियाँ लगाने में सहायक होता है | इसे A1 श्रेणी का दूध कहतें है |
देसी गायें की चमड़ी विषाणुरहित होती है और इस पर हाथ फेरने से व्यक्ति स्वास्थ्य होता है | इस जानवर की चमड़ी में पिस्सू , जुएँ , और चिचड़ आदि लगते है जो हमारे लिए भी हानिकारक होतें है |
गायें केवल अपने पालने वाले को ही दूध देती है और इस गायें का बछड़ा हजारों गायों में अपनी माँ को पहचान लेता है | इन जानवरों को प्रलोभन देकर हिंसक तरीके से दुहा जाता है और इसका बछड़ा अपनी माँ को हजारों गायें में नहीं पहचान सकता |
गायें का घी बुरा कैलोसट्रोल कम करता है और विषाणु रोधक भी होता है | गायें की लस्सी शरीर को ठंडक देने वाली , यकृत को साफ़ करने वाली , अंतड़ियों को साफ करने वाली और दिमाग को बल देनी वाली होती है | इसका दूध कैलोसट्रोल  बढाता है और इसमें कोई औषधीय गुण नहीं होते है | इसमें इस प्रकार का कोई भी गुण नहीं होता है|

 

Jersey cattle - Wikipedia

यह है जरसी गाय

इसके अलावा देसी गायें के पीठ पर एक बड़ा गुम्बद सा बना होता है जो दूसरी गायें में नहीं होता | इसके अलावा देसी गायें का गोबर बिखरता नहीं है जब कि दूसरी गायें का गोबर बिखरता है | देसी गायें को पंखे आदि की जरूरत नहीं होती और उसकी चमड़ी साफ़ रहती है जबकि दूसरी गायें में उल्टा है |  difference between jersey and desi cow 

Read This : मन्दिर जाने का वैज्ञानिक महत्व भी है 

 

आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

 

यह भी पढ़ें

essence-of-vedas-in-india

जानिए क्यों भारत वेदों के अनुसार चलता है

Essence of Vedas in India: 1 – वेदों में बताए नागरिकों के राष्ट्रीय कर्तव्य वयं …

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved