गंगा में तैरते दिखे 40-45 शव – क्या मौत के बाद नदी में बहाई जा रहीं कोरोना संक्रमितों की लाशें ?

Corpses floating in ganges  बिहार के बक्सर जिले में आज सुबह गंगा नदी में तैरती कई लाशें दिखीं।
ये लाशें फूली हुई थीं और लगभग सड़ी हुई थीं। यह डरावना नजारा भारत में कोविड संकट को
दिखाने के लिए काफी है। बिहार और उत्तर प्रदेश से लगे चौसा शहर की गंगा के तट पर लगभग दर्जन भर
लाशें बिछी हुई थीं। सुबह जब लोगों की नींद टूटी तो उन्हें बहुत खतरनाक और डरावना दृश्य दिखा।
स्थानीय प्रशासन का मानना है कि ये लाशें उत्तर प्रदेश से बहकर आई हैं और ये कोविड मरीजों की हैं।
प्रशासन का अनुमान है कि परिजनों को इन लाशों को दफनाने की कोई जगह नहीं मिली तो उन्होंने इन्हें गंगा में बहा दिया।

अधिकारी ने कहा – पानी में 40-45 लाशें दिखीं

अधिकारी अशोक कुमार ने चौसा जिले के महादेव घाट पर कहा – पानी में तैरती हुई लगभग 40-45 लाशें
दिखी थीं। अशोक कुमार के मुताबिक, ऐसा लगता है कि इन शवों को नदी में फेंक दिया गया है।
सूत्रों का दावा है कि यहां सौ के आसपास लाशें हो सकती हैं। एक दूसरे अधिकारी केके उपाध्याय के मुताबिक,
इन फूली हुई लाशों को देखने से ऐसा लगता है कि ये पांच से छह दिन से पानी में हो सकती हैं।
हमें इसकी जांच करनी होगी कि ये उत्तर प्रदेश के किस शहर से आई हैं।

लोगों में मचा हड़कंप

शहर के लोगों के बीच इन लाशों के मिलने के बाद हड़कंप की स्थिति बनी हुई है।
उन्हें आशंका है कि इन लाशों और दूषित हुए नदी के पानी की वजह से संक्रमण न फैले।
गांव के नरेंद्र कुमार कहते हैं कि लोगों को संक्रमण का डर है। हमें इन लाशों को दफनाना होगा।
उन्होंने कहा कि एक अधिकारी आए थे, उन्होंने कहा कि इन लाशों को साफ कर दो, पांच सौ रूपये दिए जाएंगे।

यह भी पढ़े . . .

कैसे गंगा को पृथ्वी पर लाये थे भगीरथ

आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

Quick Payment Link

यह भी पड़िए

माता वैष्णो देवी भवन के पास कैश काउंटर पर लगी आग

fire in vaishno devi katra   जम्मू और कश्मीर में माता वैष्णो देवी भवन के पास …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved