Tuesday , 24 November 2020
Home - षड्यंत्र - श्री कृष्णा धारावाहिक काँग्रेस सरकार बैन करना चाहती थी
Congress wants to ban Shri Krishna Serial
Congress wants to ban Shri Krishna Serial

श्री कृष्णा धारावाहिक काँग्रेस सरकार बैन करना चाहती थी

Congress wants to ban Shri Krishna Serial :   रामायण की सफलता के बाद डर गई थी काँग्रेस सरकार श्री कृष्णा को बैन कर दिया था | क्या आप जानते हैं कि श्री कृष्णा को पहली बार दूरदर्शन पर लाने के लिए रामानंद सागर और उनके बेटे को कितने प्रयास करने पड़े थे.

उन्हें ऑफिसों के चक्कर काटने के साथ ही हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीमकोर्ट तक जाना पड़ा था।बताया जाता है कि इसकी वजह रामायण की लोकप्रियता को देखकर सरकार का घबरा जाना था । जिसको लेकर सरकार ने ‘श्री कृष्णा’ को दूरदर्शन पर रिलीज न करने के निर्देश दे दिये थे।

इसी के बाद रामानंद सागर ने सारे रास्ते बंद मिलने पर ‘श्री कृष्णा’ की कैसेट मार्केट में उतारी।
इसके साथ ही श्री कृष्णा का मॉरीशस में प्रीमियर किया गया। यह मामला पार्लियामेंट में गूँजा, तब जाकर कुछ इस तरह श्री कृष्णा को दूरदर्शन पर दिखाया गया।

Related Post : क्यूँ मिला गाँधी परिवार को कट कर मरने का श्राप ?

यह जानकारी ‘श्री कृष्णा’ को बनाने वाले रामानंद सागर के बेटे और सिनेमेटोग्राफर प्रेम सागर ने एक अखबार को दी। 

श्री कृष्णा को भारत की जगह क्यों मॉरीशस में दिखाने को मजबूर हो गये निर्माता ??

रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर ने बताया कि ‘श्री कृष्णा’ को दूरदर्शन पर लाने के लिए बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।
उनके अनुसार *’रामायण’ की लोकप्रियता के बाद साफ निर्देश जारी हो गए थे कि इस तरह का कोई भी धारावाहिक दूरदर्शन पर न दिखाया जाये।
वहीं इसके बाद ही लालकृष्ण आडवाणी जी ने अपनी रथयात्रा शुरू कर दी थी.  जिसके चलते सभी पौराणिक शो को कड़े तौर पर बंद कर दिया गया। 

रामानंद सागर ने तंग आकार यह कदम उठाया |  

मार्केट में उतारी श्री कृष्णा की कैसेट और मॉरिशस में किया प्रीमियर…

प्रेम सागर ने बताया कि जब ‘श्री कृष्णा’ को दूरदर्शन पर नहीं दिखाया गया तो फिर मार्केट में इसकी वीडियो कैसेट निकालने का उपाय निकाला गया…
क्योंकि इस पर रोक का कोई नियम नहीं था।
जैसे ही मार्केट में ‘श्री कृष्णा’ की वीडियो कैसेट आयी इसकी बिक्री बहुत ही तेजी से शुरू हो गई।
इसके बाद वीडियो रथ निकाला गया जिस पर ‘श्री कृष्णा’ चलाकर लोगों को आकर फ्री में देखने का आमंत्रित किया गया। साथ ही इसके विज्ञापन भी दिये। इसके बाद भी श्री कृष्णा के रिलीज नहीं होने पर मॉरीशस का रूख करना पड़ा।

श्री कृष्णा का प्रीमियर मॉरीशस में किया गया। वहाँ पर राधा-कृष्ण का भव्य स्वागत किया गया।
लोगों ने अपने घरों से बाहर निकलकर फूलों की वर्षा की। इधर यह बात भारत में पता लगते ही यह मामला अब पालियामेंट में गूँज उठा। Congress wants to ban Shri Krishna Serial

संसद में उठा मामला और फिर खुली श्री कृष्णा शो की राह…

देश की संसद में हंगामा होते ही राज्यसभा में सवाल पूछा गया कि ‘श्री कृष्णा’ का प्रसारण भारत में क्यों नहीं किया जा रहा है? 

उसी दौरान चेन्नई की चर्चित एडवरटाइजिंग एजेंसी के आर. के. स्वामी ने दूरदर्शन के कुछ स्लॉट खरीदे लिये।
प्रेम सागर ने कहा कि स्वामी जब मुझसे मिलने आए, तब मैंने एक प्लान बनाकर उन्हें दे दिया, लेकिन स्वामी से दूरदर्शन वालों ने पूछा ही नहीं कि वे कौन सा शो लेकर आ रहे हैं।


इस बीच ही हमने श्री कृष्णा को सेंसर बोर्ड से पास करा लिया। इसके बाद वो दिन पास ही आ गया था जब दूरदर्शन पर ‘श्री कृष्णा’ को रिलीज होना था, लेकिन अभी तक स्लॉट बुक कर चुके दूरदर्शन को कौन सा धारावाहिक के लिए यह बुकिंग हुई है, उसकी जानकारी नहीं थी।

जैसे ही दूरदर्शन को पता चला कि जिन स्लॉट को बुक किया गया है उन पर श्री कृष्णा को रिलीज किया जाएग।
इस पर दूरदर्शन ने कहा आप सीरियल ‘श्री कृष्णा’ नहीं ला सकते। दिक्कत तो सिर्फ और सिर्फ हिंदुओं की बढ़ती हुई धर्म प्रियता से थी.

Post Reference From Prem Sagar ( Grand Son of Ramanand Sagar )

Congress wants to ban Shri Krishna Serial
Congress wants to ban Shri Krishna Serial

 


आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

यह भी पढ़ें

Reality of Javed akhtar

जिहादी जावेद अख्तर का काला सच शायद बहुत कम लोगो को पता है : Reality of Javed Akhtar

Reality of Javed Akhtar :  क्या बॉलीवुड मे सच मे फिल्म-जिहाद अथवा बॉलीवुड-जिहाद जैसा कुछ …

एक टिप्णी

  1. ममता मिश्रा

    ॐ 🙏
    कापी पेस्ट की अनुमति प्रदान कीजिए।
    तभी तो आज के बच्चों तक जानकारी पहुंचेगी।
    धन्यवाद 🙏🌊✍️🍃 सीताराम 🙏🚩🌊✍️🍃

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved