Wednesday , 8 July 2020
Home - इतिहास

इतिहास

इतिहास : भारतीय इतिहास के वो पहलु जिस से हमें वंचित किया गया जेसे गौरव शाली युद्ध कि गाथाएँ , गद्दारों कि गद्दारी , छोटे कद वाले व्यक्ति को बड़ा दिखा कर आज तक प्रस्तुत किया सब को वर्णन इस शैली में मिलेगा , इतिहास से फेर बदल का काला चीठा

गुमनामी बाबा ही थे नेता जी , प्रणब मुखर्जी भी मिले थे उनसे

pranab-mukherjee-met-gumnami-baba

Pranab Mukherjee met gumnami baba : 1950 के दशक में वे  भगवान जी के नाम से जाने जाते थे वे उत्तर प्रदेश के लखनऊ, नैमिषारण्य। , बस्ती, अयोध्या और फैजाबाद में कई जगह पर रहे । 1980 के दशक में उन्हें गुमनामी बाबा के नाम से जाना जाने लगा। कुछ समय तक मृत व्यक्ति आराम से अपनी जिंदगी बसर कर …

Read More »

केवल 116 स्वयंसेवकों ने भारत से खदेड़ डाला था पुर्तगालियों को

rss-takeover-goa

RSS takeover goa  : भारत का स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 1947 है। उस दिन अंग्रेज भारत से चले गए थे। फ्रांस के कब्जे वाले पांडिचेरी कार्यक्रम तथा चंद्र नगर भी उस दिन भारत को मिल गए थे। भारत के वे भू-भाग जो पुर्तगालियों के कब्जे में थे तब भी गुलाम ही बने रहे। RSS takeover goa संघ की भूमिका RSS …

Read More »

जब पुर्तगाली ईसाईयों ने गौमांस खिलाकर किया था गोवा में हिन्दुओं का धर्मपरिवर्तन

francis-xavier-converted-hindus

Francis Xavier converted Hindus : ये इतिहासिक घटना शुरू होती है जब 1542 में Francis Xavier नाम का ईसाई पुर्तगाल से मालाबार में आता है |इस व्यक्ति का भारत में आने का सिर्फ एक ही मकसद था , वह यहाँ से हिन्दू धर्म को खत्म करके ईसाई धर्म की स्थापना करना चाहता था | उसका मानना था कि हिन्दू लोगो …

Read More »

षड्यंत्र: ईसाई मिशनरियों ने की थी भारत के विभाजन की कोशिश

christian-missionary-wanted-to-divide-india

christian missionary wanted to divide India : 1938 में पाकिस्तान की मांग के साथ साथ आदिवासीस्थान की मांग में भी तीव्रता लाई गई थी | इसके प्रचार कार्य के लिए मुस्लिम लीग ने एक लाख रूपये दिए थे | भारत में राजनितिक स्वाधीनता के साथ साथ अदिवासिस्थान का आन्दोलन भी तीव्र कर दिया गया | इसके पीछे का उद्देश्य यह …

Read More »

कुछ बौद्धों ने की थी भारत पर हमले के लिए कासिम की सहायता

budh-helped-muhammad-bin-qasim

Muhammad bin Qasim : मुस्लिम हमलावरों द्वारा सिंध पर अनेकों आक्रमण किये गये थे लेकिन काफी बार वे असफल ही रहे थे | जयसिंह ने खलीफा के सेनापति बुदैल को मार दिया था और अरब सेनाएं पराजित हो चुकी थी | ह्ज्जात ने प्रतिशोध लेने के लिए सिंध पर आक्रमण करने के लिए अपने जवाई मुहम्मद बिन कासिम को चुना …

Read More »

काला पानी कठोर यातनाएं जिन्हें हिन्दू बंदिओं को रोज सहना पड़ती थी

Tough Punishments of Cellular Jail

Tough Punishments of Cellular Jail : कैदियों को नारियल का रेशा कूटकर निकालने का काम दिया गया। इस काम को करते हुए कैदी आपस में बोलते भी रहते थे। एक बार कोलकाता से कोई अधिकारी इस जेल में देखने आया। उसे कैदियों का आपस में बोलना भी सहन नहीं हुआ। आदेश दिए गए कि कैदियों से अधिक कठोरता से काम …

Read More »

कैसे हिन्दू साम्राज्य बंगाल में रखी गई थी इस्लाम की नींव

how-bengal-became-islamic-state

how Bengal became Islamic state : 1400 इसवी में बंगाल में राजा गणेश का शासन था | जलालुद्दीन उस समय बंगाल में सूफी मुस्लिमों के कर्ण अनेको समस्याए उत्पन्न कर रहे थे | राजा गणेश ने इन सूफियों का दमन करने की कोशिश शुरू कर डाली | राजा के दमन का जवाब देने के लिए बंगाल के ही एक सूफी …

Read More »

कैसे हिन्दुओं ने अमृतसर को पाकिस्तान में सम्मलित होने से बचाया

rss-saved-amritsar-from-muslim-league

Rss saved Amritsar from Pakistan : 1941 की जनगणना अनुसार अमृतसर की जनसंख्या 376824 थी। मुस्लिम लीग की योजना अमृतसर और गुरदासपुर नामक दो नगरों को पाकिस्तान में शामिल करवाना था। इसी उद्देश्य से अमृतसर को केंद्र बनाया। नगर मुस्लिम नेशनल गार्ड ,खासकर और अहरार नामक मुस्लिम संगठनों का भी गढ़ है। यह संगठन मुसलमानों को शस्त्र चलाने  में प्रशिक्ष्ण देते …

Read More »

अगर गुमनामी बाबा नहीं थे नेता जी तो क्यों गोलवलकर जी लिखते थे उनको पत्र

golwalkars-letter-to-subash-chander-bose

golwalkar’s letter to subash chander bose : वास्तव में भगवन दी एक ऐसे साधु का नाम था जिनका अस्तित्व उनके शिष्य तक नहीं साबित कर पाए थे | वे बस एक पर्दे के पीछे रहकर ही बात करते थे | यह साधु अपने जीवन में कई बार किराये के अनेकों घर बदल चुके थे| 1950 में दशक में भगवन जी …

Read More »

ज्योतिलिंग भीमाशंकर में क्यूँ लगे हैं क्रॉस वाले घंटे ? Chimaji Appa

Chimaji Appa

चिमाजी अप्पा या चिमणाजी अप्पा , बालाजी विश्वनाथ के बेटे और बाजीराव के छोटे भाई थे। उन्होंने पुर्तगाली शासन से भारत के पश्चिमी तट को मुक्त कराया। वह वसई किले में हुए एक कठिन युद्ध को जीत लिया।Chimaji Appa सन 1739 में बाजीराव प्रथम ने चिमाजी अप्पा को पुर्तगालियों को बेसीन से हटाने का आदेश दिया चिमाजी अप्पा ने पुर्तगालियों को कई पत्र …

Read More »
error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved