Saturday , 19 September 2020
Home - समाचार - पाकिस्तान में मिली 1700 वर्ष पुरानी बुद्ध मूर्तिमुस्लिमों ने तोड़ डाली
buddha-statue-found-in-pakistan

पाकिस्तान में मिली 1700 वर्ष पुरानी बुद्ध मूर्तिमुस्लिमों ने तोड़ डाली

Buddha statue found in Pakistan  : पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में  तख्ते बाही

के पास  एक घर की नींव रखते दौरान लगभग 1700 साल पुरानी भगवान बुद्ध की प्रतिमा मिली थी |

यह मूर्ति तब मिली जब मजदूर घर की नींव करने के लिए खुदाई कर रहे थे। लेकिन इस मूर्ति को तोड़ दिया गया।

स्थानीय लोगों के अनुसार खुदाई के दौरान जो मूर्ति मिली। तो कुछ मुस्लिम  नेताओं ने आकर

कहा कि बुद्ध की इस प्रतिमा को तोड़ देना चाहिए। इस क्षेत्र में वैसे भी बहुत सारे पुरातत्व अवशेष मिलते रहते हैं।

इस मूर्ति को इसलिए भी तोड़ दिया क्या क्योंकि इस्लाम में बुतों की प्रतिमा को गैर इस्लामिक माना जाता है।
भगवान बुद्ध की प्रतिमा का इस इलाके में मिलना यह साफ़ दर्शाता है कि  सनातन धर्म की सीमाएं

बहुत दूर तक थी। लेकिन आज भी हम इनकी मानसिकता के बारे में देख सकते हैं कि कितनी

हद तक लोगों के लिए हमारे धर्म के प्रति नफरत   छिपी है | Buddha statue found in Pakistan

Read This also : पालघर में साधुओं की हत्या पर शुरू हुई राजनीती

Gandhara Buddha statue smashed in Takhtbhai 😟

This is just heart breaking: "A life sized statue of Buddha was discovered on a construction site of my cousins land in Takhtbhai, Mardan yesterday.However, before we were informed about it, the contractor had already broken it into pieces as the local maulvi told him that he would lose his imaan and his nikah will also not remain valid any more." Via Hamid AfridiUPDATE 18/07/2020: There is a law: KP ANTIQUITY ACT 2016 (previously Federal Antiquity Act 1975) which strictly forbids anybody damaging an antiquity. The Directorate of Archaeology & Museums, Khyber Pakhtunkhwa, has traced the location and started criminal proceedings against the offenders. Penalty under the KP Antiquity Act 2016 include both imprisonments and finesBreaking News 1600hrs 18/07/2020: All offenders who were seen smashing an antique Gandharan Buddhist statue in Mardan have been arrested by KP Police and a First Inquiry Report (FIR) has been lodged against them under relevant sections of the Antiquity Act 2016

Posted by Qissa Khwani on Friday, July 17, 2020

फेसबुक में डाली गई इस विडियो में देखा जा सकता है कि कैसे मूर्ति को हथोड़े से तोड़ा जा रहा है | हालाकि पाकिस्तान की पुलिस ने इन लोगों को गिरफ्तार भी किया है | पाकिस्तान में अगर हिन्दू मूर्तियाँ ही सुरक्षित नहीं तो हिन्दुओं का क्या हाल होता होगा यह देखा ही जा सकता है |  इसके अलावा अभी कुछ दिन पहले ही इस्लामाबाद के श्री कृष्ण मन्दिर को बनने नहीं दिया गया था | Buddha statue found in Pakistan

Reference : opindia

 


आशा है , आप के लिए हमारे लेख ज्ञानवर्धक होंगे , हमारी कलम की ताकत को बल देने के लिए ! कृपया सहयोग करें

यह भी पढ़ें

Reconstruction of temple

Reconstruction of temple – 31 साल पहले आतंकियों ने जला दिया था रघुनाथ मंदिर, अब फिर गूंजेंगे जयकारे

Reconstruction of temple – कश्मीर की खोई विरासत और सनातन परंपरा को सहेजने का कार्य …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Copyright © 2020 Saffron Tigers All Rights Reserved